होमर यूनान के पहले और सबसे महान महाकवि थे। इन्होंने 'ओडिसी' नामक प्रसिद्ध ग्रन्थ का रचना की है।

उक्तियाँसंपादित करें

  • किसी मित्र के लिए मर मिटना कठिन नहीं है, लेकिन ऐसे मित्र की खोज करना जिसके लिए आप सचमुच मरना चाहेंगे, यह कठिन है।
  • ऐसे मित्र जो आपके सुख-दुःख को समझें और कठिन समय में साथ निभाए, ऐसा मित्र आपके जीवन में भाई-बहन की तरह होते हैं।
  • जिस तरह से बातचीत करने के लिए निश्चित समय होता है, उसी तरह से सोने के लिए भी समय तय करिये।
  • लड़ाई-झगडे समाप्त करने के लिए समझदार होना जरुरी है। इसी तरह से अच्छा प्रदर्शन देने के लिए धैर्य रखना बहुत जरूरी है।
  • अच्छे मित्र आपको हर परिस्थिति का सामना करना सिखाते हैं, वे भी पूरे साहस के साथ।
  • किसी के साथ घृणा करना नर्क के द्वार पर खड़े होने जैसा है। यह बात उन लोगो के लिए सटीक है जो अपने दिल में किसी बात को छिपाते हैं और दूसरा व्यक्ति सबके सामने बोल देता है।
  • ज्यादा लोग आप पर राज करें, या आपको निर्देश दे, यह ठीक नहीं है।
  • दान करना बेशक हमारे लिए छोटी बात हो, लेकिन दूसरों के लिए बहुत महत्वपूर्ण हो सकती है।
  • सफलता प्राप्त करने के लिए अधिकांश लोगों को कठिन से कठिन परिश्रम करना पड़ता है।
  • वही दो लोग अच्छे मित्र बन सकते हैं जो किसी एक चीज से प्रेरित हों।
  • जिन शब्दों से कोई फर्क नहीं पड़ता, उन शब्दों का प्रयोग करने का कोई अर्थ नहीं।
  • सुन्दर लोगो में और युवाओ में समझदारी होती है, लेकिन उनमे समझदारी काफी कम होती है।
  • नींद लेना शरीर के लिए बहुत जरुरी है, लेकिन बहुत ज्यादा सोना भी घातक हो सकता है।
  • इस बात से ज्यादा महत्वपूर्ण कोई भी बात हो सकती जब दो लोग एक-दूसरे की आँखों में आँखे डाल कर देखते है, घर को अपनेपन से भर देते है, दुश्मनो को घर से बाहर और दोस्तों को भरपूर प्यार देते है।