सहयोग (Cooperation) वह प्रक्रिया है जिसमें जीवों का कोई समूह एकसाथ मिलकर सबके/आपसी लाभ के लिए कार्य करता है, न कि स्वार्थ के लिए एक-दूसरे से प्रतिस्पर्धा करना। अनेक जन्तु एवं वनस्पति प्रजातियाँ आपस में तथा दूसरी प्रजातियों के साथ सहयोग करतीं हैं। भाषा की शक्ति के कारण मानव समाज में बहुत बड़े पैमाने पर सहयोग सम्भव है।

उक्तियाँसंपादित करें

  • ॐ सह नाववतु। सह नौ भुनक्तु। सह वीर्यं करवावहै। तेजस्विनावधीतमस्तु मा विद्विषावहै॥ (तैत्तिरीय उपनिषद, कृष्ण यजुर्वेद)
अर्थ : परमेश्वर हम शिष्य और आचार्य दोनों की साथ-साथ रक्षा करें। हम दोनों को साथ-साथ विद्या के फल का भोग कराएँ। हम दोनों एकसाथ मिलकर विद्या प्राप्ति का सामर्थ्य प्राप्त करें। हम दोनों का पढ़ा हुआ तेजस्वी हो। हम दोनों परस्पर द्वेष न करें।
  • आज की अधिकांश शिक्षा, नौकरी के लिये है। लोगों को इस बात के लिये तैयार किया जाता है कि वे बाहर के वाणिज्यिक संसार में प्रतिस्पर्धा करते हुए अपनी जीविका कमा सकें। यह बदलकर रहेगा। स्पर्धा के स्थान पर सहयोग आयेगा। -- बेंजामिन क्रीम, 'नये युग में शिक्षा, Interview with Benjamin Creme, Share International (July/August 1997), Ch. 2
  • किसी भी देश की सुरक्षा और कल्याण दूसरों से कटकर बहुत दिनों तक जीवित नहीं रह सकता। यह केवल दूसरे देशों के साथ प्रभावी सहयोग से ही सम्भव है। -- Dwight D. Eisenhower, speech to the American Society of Newspaper Editors "The Chance for Peace" (16 April 1953)
  • अच्छे लोगों के साथ सहयोग करना जितना महत्वपूर्ण है, उतना ही महत्वपूर्ण है बुरे लोगों के साथ असहयोग करना। -- महात्मा गाँधी