श्री चिन्मय (27 अगस्त 1931 - 11 अक्टूबर 2007), एक भारतीय आध्यात्मिक नेता थे, जिन्होंने १ ९ ६४ में न्यूयॉर्क शहर जाने के बाद पश्चिम में ध्यान सिखाया था।

श्री चिन्मय

उद्धरणसंपादित करें

  • मुस्कुराओ, मुस्कुराओ, अपने मन में जितनी बार हो सके मुस्कुराओ। आपकी मुस्कुराहट आपके मन के तनाव को कम कर देगी।
  • अंतर संवेदना और बाहरी सहिष्णुता आसानी से एक नयी दुनिया का निर्माण कर सकतें हैं, एक बेहतर दुनिया का
  • मौन मूक नहीं है. मौन बोलता है. यह सर्वाधिक वाकपटुता से बोलता है. मौन स्थिर नहीं है. मौन आगे बढ़ता है. यह सबसे अच्छी तरह से आगे बढ़ता है.
विकिमीडिया कॉमन्स पर संबंधित मीडिया -