मुख्य मेनू खोलें

विकिसूक्ति β

शिव खेड़ा

उक्तियाँसंपादित करें

  • विपरीत परस्थितियों में कुछ लोग टूट जाते हैं, तो कुछ लोग लोग रिकॉर्ड तोड़ते हैं।
  • चरित्र का निर्माण तब नहीं शुरू होता जब बच्चा पैदा होता है; ये बच्चे के पैदा होने के सौ साल पहले से शुरू हो जाता है।
  • हमारी बिजनेस से सम्बंधित समस्याएं नहीं होतीं, हमारी लोगों से सम्बंधित समस्याएं होती हैं।
  • कभी भी दुष्ट लोगों की सक्रियता समाज को बर्वाद नहीं करती, बल्कि हमेशा अच्छे लोगों की निष्क्रियता समाज को बर्वाद करती है।
  • जीतने वाले लाभ देखते हैं, हारने वाले दर्द।

बाहरी कडियाँसंपादित करें

विकिपीडिया पर संबंधित पृष्ठ :