वैश्वीकरण

बहुआयामी वैश्विक/ बहुराष्ट्रीय गठन की प्रक्रिया

वैश्वीकरण या भूमण्डलीकरण (globalization) विश्व के विभिन्न अर्थव्यवस्थाओं और समाजों की परस्पर निर्भरता, परस्पर जुड़ाव और एकीकरण को इस हद तक बढ़ाने की एक प्रक्रिया है कि विश्व के किसी भी भाग में होने वाली घटना, विश्व के अन्य भागों के लोगों को शीघ्र ही प्रभावित करे।

'वैश्वीकरण' शब्द का प्रयोग कभी-कभी विशेष रूप से आर्थिक वैश्वीकरण के सन्दर्भ में किया जाता है, अर्थात् व्यापार, विदेशी प्रत्यक्ष निवेश, पूंजी प्रवाह, प्रवासन और प्रौद्योगिकी के प्रसार के माध्यम से अंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था में राष्ट्रीय अर्थव्यवस्थाओं का एकीकरण।

उक्तियाँसंपादित करें

  • वैश्वीकरण किसी देश की राजनीतिक सीमाओं से परे आर्थिक गतिविधियों का विस्तार है। -- दीपक नय्यर, प्रसिद्ध भारतीय लेखक
  • वैश्वीकरण को एक ऐसे विश्व के रूप में देखा जाना चाहिए जिसमें सभी देशों का व्यापार एक देश की ओर बढ़ रहा हो। इसमें पूरा विश्व एक अर्थव्यवस्था और एक बाजार है। -- जॉन नेसविट और पोर्टेशिया एबरडीन

इन्हें भी देखेंसंपादित करें