"योग" के अवतरणों में अंतर

२७ बैट्स् नीकाले गए ,  ४ माह पहले
सम्पादन सारांश रहित
No edit summary
No edit summary
 
* ''योगः चित्तवृत्तिनिरोधः'' (चित्त की वृत्तियों का निरोध ही योग है।) -- पतञ्जलि योगसूत्र
 
* “मन की शांति” केवल योग से मिलती हैं।
 
* अपना अभ्यास करो और सब कुछ आ रहा है। -- श्री के पट्ठाबी जॉइस
७४६

सम्पादन