"भाषा" के अवतरणों में अंतर

४ बैट्स् जोड़े गए ,  ४ माह पहले
सम्पादन सारांश रहित
No edit summary
No edit summary
 
* निज भाषा उन्नति अहै, सब भाषा को मूल ।
: बिनु निज भाषा ज्ञान के, मिटै न हिय को शूल ॥—॥ — भारतेन्दु हरिश्चन्द्र
 
* जो एक विदेशी भाषा नहीं जानता, वह अपनी भाषा की बारे में कुछ नही जानता। — गोथे
* यदि हम एक अलग भाषा बोलें तो हम कुछ अलग तरह के संसार का अनुभव करेंगे। -- लुडविग विटगेंन्स्टाइन
 
* एक अलग भाषा, जीवन की एक एलग दृष्टि भी है। -- फेदेरिको फेलिनी
७४६

सम्पादन