"हिन्दी लोकोक्ति भाग - 1" के अवतरणों में अंतर

चिकने घड़े पर पानी नहीं ठहरता : बेशर्म आदमी पर किसी बात का
असर नहीं होता.
<BR/> <BR/>
चिकने मुँह सब चूमते हैं : सभी लोग बड़े और धनी आदमियों की हाँ
में हाँ मिलाते हैं.
<BR/> <BR/>
चित भी मेरी, पट भी मेरी : हर तरह से अपना लाभ चाहने पर उक्ति.
<BR/> <BR/>
चिराग तले अँधेरा : जहाँ पर विशेष विचार, न्याय या योग्यता आदि
की आशा हो वहाँ पर यदि कुविचार, अन्याय या अयोग्यता पाई जाए.
 
===छ===
४११

सम्पादन