विलियम जेम्स (11 जनवरी 1842 – 26 अगस्त 1910) अमेरिका के एक अग्रणी मनोवैज्ञानिक एवं दार्शनिक थे। उन्होंने दर्शन के विज्ञान, धार्मिक अनुभवों के विज्ञान तथा रहस्यवाद पर अनेक पुस्तकों की रचना की।

विलियम जेम्स (1903)

उक्तियाँसंपादित करें

  • किसी व्यक्ति की असफलता का सबसे बड़ा कारण यह है कि वह खुद पर भरोसा नहीं करता।
  • मानव स्वभाव में सबसे गहरा सिद्धान्त सराहना पाने की लालसा है।
  • तनाव के खिलाफ सबसे बड़ा हथियार एक विचार को दूसरे विचार के ऊपर चुनने की हमारी क्षमता है।
  • जब भी मनुष्य अपनी सोच या अपने दृष्टिकोण को बदलता है, तो वह अपना पूरा जीवन बदल देता है।
  • जब कोई व्यक्ति किसी अच्छे अवसर का लाभ नहीं लेता या लाभ नहीं उठाता है, तो उसका असफल होना निश्चित है।
  • दो चीजें हमें जीवन में सबसे ज्यादा प्रभावित करती हैं; पहली है ‘जरूरत’ और दूसरी है ‘संघर्ष’। जब हमें लगता है कि जीत अब कदम चूमने लगी है, तभी तो जीवन में एक ठहराव आने लगता है।
  • हमारे कर्म हमेशा खुशी नहीं ला सकते, लेकिन कर्म के बिना कोई खुशी भी नहीं होती।
  • अगर आप अपनी जीवनशैली को बदलना चाहते हैं, तो आज से ही इसकी शुरुआत करें. इसे और आगे टालने की जरूरत नहीं है।
  • हम समुद्र के द्वीपों की तरह हैं, सतह पर अलग लेकिन गहराई में जुड़े हुए हैं।
  • इस तरह से काम करें कि आपके काम से कुछ न कुछ बदलाव जरूर आएगा और आप देखेंगे कि बदलाव आकर ही रहेगा।
  • उस विशेष मानसिक विशेषता की तलाश करें, जो आपको सबसे अधिक गहराई से और जीवित रूप से जीवंत महसूस कराती है, जिसके साथ-साथ भीतर की आवाज़ सुनाई देती है, जो कहती है, ‘यह वास्तविक मैं है’, और जब आपको वह रवैया मिल जाता है, तो उसका पालन करें।
  • वही व्यक्ति बुद्धिमान है, जो जानता है कि किन बातों को पूरी तरह से अनदेखा करना चाहिए.
  • यदि आप परिणामों के बारे में चिंतित हैं, तो आप उन्हें प्राप्त करने के लिए जुट जाएंगे और आप उन परिणामों को प्राप्त करेंगे।
  • हम जैसा सुनने का निर्णय करते हैं वैसे ही दुनिया के बारे में हमारा दृष्टिकोण वास्तव में रूप लेता है।
  • अधिक काम करने के कारण थकान नहीं होती है. लेकिन बीच में ही छोड़े गए कार्य के बारे में सोचते-सोचते हम थकने लगते हैं।
  • जब भी दो लोग मिलते हैं, तो वास्तव में वहां छह लोग मौजूद होते हैं. पहला आदमी है जैसा कि वह खुद को देखता है, दूसरा आदमी जैसा कि दूसरा व्यक्ति उसे देखता है, और तीसरा आदमी जैसा की वह वास्तव में होता है।
  • यदि आप अपना मन बदल सकते हैं, तो आप अपना जीवन बदल सकते हैं।
  • जीवन का सही उपयोग इसे उस चीज के लिए व्यतीत करना है जो इसे बहुत समय तक जीवित रखेगा.
  • हम कभी इसीलिए नहीं हंसते क्योंकि हम खुश हैं. बल्कि हम खुश होते हैं क्योंकि हम हंसते रहते हैं।
  • जीवन को बदलना आसान है भले ही आप कुछ भी उम्मीद न करें।
  • जब आप किसी चीज पर विश्वास करना शुरू करते हैं, तभी वे तथ्य का रूप धारण करेंगे।
  • जैसा कि आप बाद में बनना चाहते हैं, उसकी शुरुआत आज से ही करें।
  • किसी के जीवन को बदलने के लिए: इसे तुरंत शुरू करें, इसे तेजतर्रार करें, और कोई अपवाद न रखे.
  • मनुष्य अपने मन के आंतरिक दृष्टिकोण को बदलकर, अपने जीवन के बाहरी पहलुओं को बदल सकता है।
  • सच में, प्रतिभा का अर्थ अनैतिक तरीके से विचार करने के क्षमता से थोड़ा अधिक है।
  • किसी भी पीढ़ी की सबसे बड़ी खोज यह है कि मनुष्य अपने दृष्टिकोण को बदलकर अपने जीवन को बदल सकता है।
  • ऐसा प्रतीत करो की तुम जो भी कर रहे हो वो सबसे भिन्न है, और ऐसा ही होता है।
  • अगर हम एक ही बात को बार-बार दोहराते रहेंगे तो लोग उस पर से विश्वास खो देंगे।
  • आप दुनिया में जहां कहीं भी रहें, लेकिन केवल आपके मित्र ही आपकी दुनिया को खूबसूरत बनाते हैं।
  • यदि कोई जीव अपनी क्षमताओं को पूरा करने में विफल होता है, तो वह बीमार हो जाता है।